Samridh Samachar
News portal with truth
- Sponsored -

- Sponsored -

पुलिस को बड़ी सफलता, एनएसपीएम गिरोह का प्रमुख हथियार के साथ गिरफ्तार

342
Below feature image Mobile 320X100

गिरिडीह : एनएसपीएम संगठन के चीफ उमेश गिरी उर्फ उमेश दास उर्फ उमेश पांडे को गिरिडीह पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से पुलिस ने दो देसी कट्टा, 8 एमएम का नौ कारतूस, लगभग 8 एमएम का चार जिंदा कारतूस भी बरामद किया है।

उमेश गिरी की गिरफ्तारी से गिरिडीह पुलिस की बांछें खिली हुई है। बगोदर व इसके आसपास के जिलों में आतंक का नाम बन चुका उमेश गिरी की गिरफ्तारी से पुलिस सुकून महसूस कर रही है। उसकी गिरफ्तारी की सूचना गिरिडीह एसपी अमित रेनू ने नए समाहरणालय में प्रेस वार्ता कर दी।

उन्होंने बताया कि बगोदर के अटका क्षेत्र एवं आसपास के बोकारो हजारीबाग जिले में एनएसपीएम संगठन द्वारा लगातार कई घटनाओं का अंजाम दिया जा रहा था। तीनों जिला के पुलिस इस संगठन में शामिल गिरोह को पकड़ने के लिए पूरी तत्परता से लगी हुई थी। उन्होंने बताया कि 27 सितंबर को उमेश गिरी के करीबी पीरटांड़ थाना क्षेत्र के पालगंज निवासी अमित कुमार तिवारी, बोकारो जिला का राजेश कुमार महतो, डुमरी के घुटवाली का कृष्णा कुमार महतो समेत अन्य लोगों की गिरफ्तारी पुलिस पहले ही कर चुकी थी। संगठन के मास्टरमाइंड उमेश गिरी को पुलिस ने बगोदर के बीस्माइल जंगल से गिरफ्तार किया। उमेश गिरी की गिरफ्तारी को लेकर लगातार गिरिडीह समेत आसपास जिलों के पुलिस के द्वारा छापेमारी की जा रही थी।

विज्ञापन

विज्ञापन

एसपी ने बताया कि छापेमारी के दबाव के कारण उमेश गिरी के बगोदर विष्णुगढ़ गोरहर क्षेत्र में दिखाई देने की सूचना प्राप्त हुई थी। इसके उद्भेदन को लेकर सरिया बगोदर एसडीपीओ नौशाद आलम के नेतृत्व में गठित छापेमारी टीम द्वारा बगोदर थाना क्षेत्र के बीस्माइल जंगल से उमेश गिरी को गिरफ्तार किया गया।

पुलिस कप्तान श्री रेनू ने बताया कि हथियारों का सप्लाई करने वाले अपराधी सुबोध कुमार सिंह को कुछ दिन पहले ही बगोदर थाना के द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

एसपी ने बताया कि एनएसपीएम संगठन सरगना उमेश गिरी के द्वारा कई बड़े घटना का अंजाम दिया जा चुका है। जिसमें बगोदर थाना अंतर्गत लेवी नहीं देने पर शमशेर आलम के निर्माणाधीन अस्पताल से उन्हें अपहरण करना, मुखिया ललन मेहता के पैर में गोली मारने की घटना, बैंक से पैसा निकाल कर अपने गांव जा रहे मिनी बैंक संचालक से हथियार के बल पर रुपए लूटने की घटना, संगठन का दहशत फैलाने के लिए बगोदरडीह पेट्रोल पंप पर फायरिंग गोलीबारी की घटना, अटका में तारा पंजाब लाइन होटल में फायरिंग की घटना, मुखिया घर के बाहर खड़े चार पहिया वाहन पर गोली चलाने की घटना, जलापूर्ति योजना के अंतर्गत कार्य करा रहे ठेकेदार से हथियार के बल पर लेवी की मांग, अटका के उमेश मंडल एवं संजीव तिवारी को गोली मारकर हत्या करने की घटना समेत विष्णुगढ़ थाना बोकारो व हजारीबाग जिले के कई थाना क्षेत्र अंतर्गत घटना को अंजाम दे चुका है।

पूछताछ के क्रम में उमेश गिरी ने सभी घटना को स्वीकार किया है। प्रेस वार्ता के दौरान बगोदर सरिया एसडीपीओ नौशाद आलम, साइबर पुलिस उपाधीक्षक संदीप सुमन, सरिया पुलिस निरीक्षक दिनेश कुमार सिंह, बगोदर थाना प्रभारी नीतीश कुमार समेत अन्य जवान मौजूद थे।

href="https://chat.whatsapp.com/IsDYM9bOenP372RPFWoEBv">

ADVERTISMENT

GRADEN VIEW SAMRIDH NEWS <>

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Before Author Box 300X250