Samridh Samachar
News portal with truth
- Sponsored -

- Sponsored -

गिरिडीह में रेल सेवा विस्तार करने की मांग, उद्यमियों ने केंद्रीय वित्त मंत्री को सौंपा ज्ञापन

3,198
Below feature image Mobile 320X100

रांची में आयोजित संगोष्ठी में शामिल हुए गिरिडीह के नामचीन उद्यमी

रांची : फेडरेशन ऑफ झारखण्ड चैंबर ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज और बेहतर झारखण्ड के संयुक्त तत्वावधान में प्रदेश की राजधानी रांची में आयोजित एक सार्थक संवाद कार्यक्रम में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शामिल हुई. कार्यक्रम के दौरान वित्त मंत्री उद्यमियों से रूबरू हुई और सभी से लोकतंत्र के इस महापर्व में अपनी भागीदारी निभाने की अपील की. इस दौरान उन्होंने केंद्र सरकार के 10 वर्ष के कामकाज की उपलब्धियों को भी गिनाया. कार्यक्रम में गिरिडीह से उद्योगपति अमरजीत सिंह सलूजा, इंडस्ट्रीज के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष, कोयलांचल प्रमंडल सह सदस्य-ZRUCC दक्षिण पूर्व रेलवे के प्रदीप कुमार अग्रवाल, विकास खेतान, मयंक रजगढ़िया समेत कई उद्योगपति शामिल थे.

 

विज्ञापन

विज्ञापन

इस दौरान इंडस्ट्रीज के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष, कोयलांचल प्रमंडल सह सदस्य-ZRUCC दक्षिण पूर्व रेलवे के प्रदीप कुमार अग्रवाल समेत उद्योगपतियों ने वित्त मंत्री को रेल सेवा विस्तार करने की मांग को लेकर एक ज्ञापन सौंपा. ज्ञापन में जिक्र किया गया है कि गिरिडीह जिला औद्योगिकीकरण के लिहाज से तीसरे स्थान पर है जहां वर्ष 1880 में रेलवे लाइन स्थापित होने के बाद भी अब तक एक भी ट्रेन सेवा आरंभ नहीं हो सकी है. प्रमुख शहरों के लिए रेल सेवा आरंभ नहीं होने के कारण गिरिडीह और कोडरमा जिले की लगभग 45 लाख आबादी अब तक रेल सेवा से वंचित है.

 

गिरिडीह से हावड़ा, पटना और नई दिल्ली के लिए ट्रेन की मांग

 

गिरिडीह जिलेवासियों की सुविधा को देखते हुए वर्तमान में गिरिडीह से हावड़ा, पटना और नई दिल्ली ट्रेन की नितांत आवश्यकता है. ऐसे में जिले के विकास के लिए गिरिडीह से हावडा, पटना और नई दिल्ली की ट्रेन आरंभ कराने में आवश्यक सहयोग की पहल करें. कहा गया है कि गिरिडीह से इन ट्रेनों के आरंभ होने से गिरिडीह और कोडरमा जिले के व्यापारी, उद्यमी सहित काफी संख्या में लोग लाभान्वित होंगे.

href="https://chat.whatsapp.com/IsDYM9bOenP372RPFWoEBv">

ADVERTISMENT

GRADEN VIEW SAMRIDH NEWS <>

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Before Author Box 300X250