Samridh Samachar
News portal with truth
- Sponsored -

- Sponsored -

जब चलाया हैंडपंप तो पानी की जगह निकलने लगी शराब,जानें इसके पीछे की कहानी

763
Below feature image Mobile 320X100

मध्य प्रदेश के गुना जिले में एक हैंडपंप चलाने पर पानी की जगह शराब निकलने लगी. इस हैंडपंप का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. अवैध शराब और हुक्का बार के कारोबार को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की डांट-फटकार के बाद जब मैदानी प्रशासनिक अमला सक्रिय हुआ तो सोमवार को गुना जिले में हैंडपंप से शराब निकलने वाला वाला मामला सामने आया. गुना पुलिस ने दो गांवों में छापे मारे. जैसे ही पुलिस ने मौके पर मिले हैंडपंप को चलाया,उससे शराब निकलने लगी.

 

इसके बाद हैंडपंप के नीचे खुदाई की गई तो अवैध शराब से भरी टंकियां मिली हैं. ये टंकियां जमीन में करीब आठ फीट अंदर थीं. कार्रवाई के दौरान पुलिस ने बड़ी मात्रा में शराब नष्ट की है. हालांकि,आरोपी भाग निकले. पुलिस ने 8 आरोपियों की पहचान कर ली है. 2 थानों में 8 केस दर्ज किए गए हैं. अवैध शराब के ठिकानों पर कार्रवाई में लगभग 6 हजार लीटर नकली शराब जब्त की गई.

विज्ञापन

विज्ञापन

 

चांचौड़ा थाना प्रभारी रवि कुमार गुप्ता के मुताबिक टंकियों से कुछ दूरी पर एक हैंडपंप लगा था. इसी हैंडपंप से जमीन में गड़े हुए ड्रम से आरोपी शराब निकालते थे. फिर उन्हें छोटी थैलियों में भरकर बेचते हैं. बताया जाता है कि ये दोनों गांव जंगली इलाके में हैं. इसलिए यह कच्ची शराब बनाने के लिए मुख्य केंद्र बने हुए हैं. आसपास जंगल होने का फायदा उठाकर आरोपी पुलिस की दबिश के दौरान भाग निकलते है. इन दोनों गांवों में अधिकतर कंजर समुदाय के लोग रहते हैं. गांव का लगभग हर परिवार कच्ची शराब बनाने का काम करता है. इन्होंने जगह-जगह कच्ची शराब की अवैध भट्टियां लगा रखी हैं.

पुलिस ने खुदाई की तो टंकियां निकलती गईं
भानपुरा में चांचौड़ा SDOP दिव्य राजावत और साकोन्या में राघौगढ़ SDOP जीडी शर्मा के नेतृत्व में टीम ने एक साथ छापा मारा। पुलिस को देखते ही आरोपी भाग निकले। सर्चिंग के दौरान जमीन में अंदर शराब के ड्रम मिले। यहां कच्चे झोपड़ीनुमा घर बने हुए थे। पास में पानी का पक्का टैंक बना हुआ था। पुलिस ने खुदाई शुरू की तो एक के बाद एक कई ड्रम जमीन से निकलते गए।

ड्रम के हिसाब से जमीन में गड्ढे खोदे हुए थे। हर गड्ढे की गहराई लगभग 6-7 फीट थी। इनकी चौड़ाई भी ड्रम के हिसाब से होती है। 3 फीट चौड़े ड्रम के लिए लगभग 4 फीट चौड़ा गड्ढा खोदा जाता है। इसी तरह 5 फीट चौड़ाई के ड्रम के लिए लगभग 6 फीट का गड्‌ढा बनाया जाता है। उसमें ड्रम रखकर ऊपर से मिट्टी डालकर बंद कर देते हैं। ऐसे में ऊपर से ड्रम नहीं दिखता।

GRADEN VIEW SAMRIDH NEWS <>

href="https://chat.whatsapp.com/IsDYM9bOenP372RPFWoEBv">

ADVERTISMENT

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Before Author Box 300X250