Samridh Samachar
News portal with truth
- Sponsored -

- Sponsored -

बस मालिक पर जानलेवा हमला मामले में मुख्य आरोपी शिवम आजाद समेत 4 गिरफ़्तार, पढ़े पूरा मामला

Below feature image Mobile 320X100

गिरिडीह : बस स्टैंड में वर्चस्व और ठेकेदारी में हिस्सेदारी को लेकर बस मालिक राजू खान पर जानलेवा हमला किया गया था। एसपी अमित रेणु के निर्देश पर डीएसपी संजय कुमार राणा और थाना प्रभारी राम नारायण चौधरी के नेतृत्व में गठित पुलिस की टीम ने पूरे मामले का पटाक्षेप कर लिया है। वहीं इस मामले में मुख्य आरोपी पूर्व पार्षद सह भाजपा नेता शिवम आजाद, कांड में शामिल उसका साथी विकाश कुमार साहू उर्फ विक्की व जानलेवा हमला करने वाले गुलाम रसूल उर्फ गप्पू और विजय कुमार हाड़ी को पुलिस ने दबोच लिया है। शनिवार को थाना प्रभारी राम नारायण चौधरी ने प्रेसवार्ता कर पूरे मामले की जानकारी दी।

बिहार, बंगाल, झारखंड के संभावित ठिकानों पर की गई छापेमारी

थाना प्रभारी श्री चौधरी ने बताया कि ट्रांसपोर्ट कारोबारी राजू खान के आवेदन पर नगर थाना में कांड संख्या 95/2022 दर्ज किया गया। वहीं इसके बाद जांच करते हुए झारखंड, बिहार, बंगाल में अलग-अलग टीम के द्वारा इन सभी के छुपे होने के संभावित ठिकानों में छापेमारी की गई। इसी बीच मिले इनपुट पर पुलिस की टीम ने खरगडीहा के विकाश कुमार साहू उर्फ विक्की को वर्धमान से हिरासत में लिया। जिसके बाद गहनता से पूछताछ में इसके निशानदेही पर धनबाद सीमा क्षेत्र से शिवम आजाद उर्फ शिवम श्रीवास्तव और शूटर गुलाम रसूल और विजय कुमार हाड़ी को गिरफ्तार किया।

एक चार पहिया, बाइक व 4 मोबाइल जब्त

वहीं गिरफ्तारी के दौरान पुलिस के द्वारा एक चार पहिया वाहन, कांड में प्रयुक्त 4 मोबाइल व घटना में प्रयोग किया गया हिरो स्पलेंडर बाइक को जब्त किया गया है।

राजू खान को रास्ते से हटाना चाहता था शिवम

विज्ञापन

विज्ञापन

थाना प्रभारी ने बताया कि पूछताछ में शिवम ने अपना जुर्म स्वीकार किया है। उसने पुलिस को बताया कि बस स्टैंड में वर्चस्व को लेकर और हाल ही में हुई बंदोंबस्ती में हिस्सेदारी मामले में राजू खान के हस्तक्षेप करने को लेकर रास्ते से राजू खान को हटाने के लिए उसपर गोली चलवाई थी।

बराकर नदी में फेंक दिया था पिस्टल, सुनसान जगह पर छुपाई थी बाइक

थाना प्रभारी ने बताया कि घटना के दिन पुलिस ने मौके से 9mm का एक खाली खोखा और जिंदा गोली को बरामद किया गया था। वहीं पुलिस ने इस मामले में जो दो शूटरों को पकड़ा है वे दोनों धनबाद जिले के पुटकी थाना क्षेत्र स्थित भागबांध बस्ती के रहने वाले हैं। पकड़े गए गुलाम ने बताया कि शिवम आजाद के कहने पर उसने विजय हाड़ी के साथ मिलकर राजू खान पर गोली चलाई थी। इसके बाद वे दोनों झिंझरी मोहल्ला होते हुए पीरटांड़ और फिर आगे जीटी रोड से धनबाद भाग निकले। बताया कि इस दौरान शूटरों ने 9mm पिस्टल का इस्तेमाल किया था। जिसे भागते वक्त बराकर नदी में फेंक दिया था। वहीं धनबाद पहुंचने पर भूली रेलवे लाइन के पास सुनसान जगह में झाड़ियों के बीच बाइक को छुपा दिया था। जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है।

छापेमारी टीम में ये थे शामिल

छापेमारी टीम में पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी राम नारायण चौधरी के अलावे पुलिस अवर निरीक्षक अशोक कुमार, किशन कुमार, गौरीशंकर प्रसाद, सहायक अवर निरीक्षक फागुनाथ सोरेन, सेराज खान, हवलदार अयाज खान, आरक्षी अनुज कुमार सिंह, शंकर करमाली शामिल थे।

 

ये भी पढ़ें : फंदे से झूलता मिला युवक, परिजन लगा रहे हैं हत्या का आरोप 

href="https://chat.whatsapp.com/IsDYM9bOenP372RPFWoEBv">

ADVERTISMENT

<>

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Before Author Box 300X250
Advt.